श्रीलंका टीम के सदस्य इंटरनेशनल क्रिकेटर कुशल मेंडिस हत्या के आरोप में गिरफ्तार. मेंडिस की गाड़ी से कुचल कर एक * 60 वर्षीय व्यक्ति की हुई मौत. पुलिस ने मेंडिस की कार जब्त कर उन पर हत्या का मामला किया है दर्ज.
प्रधान मंत्री श्री मोदी के शौर्य, साहस एवं देश के प्रति निष्ठा और  समर्पण पर सवाल उठाते उठाते अब राहुल गांधी खुद सवालों के घेरे में. रक्षा समिति का सांसद के तौर सदस्य होने के बावजूद नहीं लिया कभी बैठक में हिस्सा.
चीन के पीछे हटने के साथ ही सीपेक (चाईना पाकिस्तान इकोनाॅमिक कोरीडोर) के पूरे होने पर उठ गए हैं सवाल,इस परियोजना का भारत ने शुरू से किया है विरोध, टूट गई पाकिस्तान की उम्मीदें.
पाकिस्तानी मीडिया अब स्वीकार कर चुकी है कि चीन भारत के खिलाफ जीत हासिल नहीं कर सकता है.अकेले लद्दाख में भारत की ताकत,सेना और खतरनाक हथियारों के सामने चीन पड़ जायेगा बेबस, दुनिया के कई देश भी भारत के साथ हैं.
कल तक भारत चीन के मामले को लगातार कवरेज देते हुए चीन को तोप करार देने वाले पाकिस्तानी मीडिया में पसरा सन्नाटा. इमरान सहित भारत के खिलाफ जहर उगलने वालों की बोलती हुई बंद.
चीन का भारत के सामने घुटने टेकते ही पाकिस्तान के उड़े होश. पाकिस्तान ने सोचा कि चीन के आंखे दिखाने से डर जायेगा भारत. लेकिन चीन के हथियार डाल देने से पाकिस्तान सदमें में डूबा.
प्रधान मंत्री श्री मोदी ने एन.एस.ए. अजीत डोभाल को भेज कर चीन को पांच प्वांइंट पर सहमति बनाने की दी जिम्मेदारी. डोभाल और चीनी विदेश मंत्री के बीच हुई बातचीत में चीन ने घुटने टेकते हुए पीछे हटने का किया फैसला. भारत की सभी शर्तें की मंजूर.
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के क्लियर स्टैंड से जिनपिंग के छूटे पसीने. भारत द्वारा स्पष्ट अपनी बात रखने के बाद चीन ने आनन फानन में लिया पीछे हटने का फैसला.
(Visited 12,957 times, 1 visits today)

Latest Video

ताजा खबर

राष्ट्रीय

अंतर्राष्ट्रीय

खेल समाचार

टेक्नोलॉजी

Latest Articles

ज्यादा पठित

इन्हें भी देखे

संग्रह

आज का सवाल

श्रेणी

Ranchi
27°
Partly Cloudy
05:3118:08 IST
Feels like: 27°C
Wind: 3km/h NNE
Humidity: 41%
Pressure: 1013.6mbar
UV index: 0
FriSatSun
min 20°C
34/19°C
35/20°C

बिज़नेस

मनोरंजन

शिखा मलहोत्रा- एक परिचय

कोई भी कलाकार चाहे वह किसी भी क्षेत्र, भाषा या संप्रदाय से जुड़ा हो, उसके प्रति आम धारणा होती है कि वह संवेदनशील और भावुक होते हैं. यह पूरी तरह सच है. यह कलाकारों की संवेदनशीलता ही है, जो वे सामाजिक, आर्थिक रुप से पीड़ित, जुल्म व वहशीपन के शिकार

Advertisement 1
Advertisement 2
Advertisement 3